ऑटो-डिलीवरेजिंग (ADL) क्या है और यह कैसे काम करता है?

Binance
2021-08-19 12:15
वीडियो ट्यूटोरियल
ऑटो-डिलीवरेजिंग (ADL) अंतिम कदम तभी उठाया जाता है जब बीमा निधि दिवालिया ग्राहक के पोजीशन को स्वीकार नहीं कर सकता। ऑटो-डिलीवरेजिंग से बचने के लिए बायनेन्स हर संभव कदम उठाता है और किसी भी ऑटो-डीलीवरेजिंग के संभावित प्रभाव को कम करने के लिए तत्काल या सीमित ऑर्डर रद्द करनेजैसे कई फीचर हैं। दुर्भाग्य से, क्रिप्टो बाजारों में अस्थिरता और उपयोगकर्ताओं को दिए जाने वाले उच्च लेवरिज के कारण, ऑटो-डिलेवरी परिसमापन से पूरी तरह बचना संभव नहीं है। सर्वश्रेष्ठ संभव उपयोगकर्ता अनुभव प्रदान करने के लिए, हम ऑटो-डिलीवरेजिंग परिसमापन को परम न्यूनतम पर रखने का प्रयास कर रहे हैं।
एक व्यापारी के रूप में, कतार में आपकी प्राथमिकता वाले एक संकेतक के आधार पर आपके पोजीशन को ऑटो-डिलीवरेजिंग का जोखिम होता है। निम्नतम प्राथमिकता से सर्वोच्च प्राथमिकता तक, संकेतकों का एक उदाहरण नीचे दिया गया है।
जब ऑटो-डिलेवरी परिसमापन होता है, तो प्रभावित उपयोगकर्ता को तुरंत एक नोटिस भेजी जाती है।
प्राथमिकता रैंकिंग में व्यापारी के पोजीशन की गणना लाभ और लेवरिज दोनों द्वारा की जाती है; सूत्र इस पेज के अंत में प्रस्तुत किया गया है। पहले अधिक लाभप्रद और उच्च लेवरिज वाले व्यापारियों का परिसमापन किया जाएगा। विशेष रूप से, व्यापारियों को उनके मार्जिन अनुपात और असाधित PnL को उनके संपार्श्‍विक (कोलैटरल) के प्रतिशत के रूप में रैंक किया जाएगा। सटीक रैंक को "LeveragePnL" के रूप में जाना जाता है, जिसे मार्जिन अनुपात से गुणा किए गए असाधित PnL / संपार्श्‍विक (कोलैटरल) के रूप में परिभाषित किया गया है। सटीक फॉरमूलेशन अंत में है।
वहां से, ट्रेडर्स को LeveragePnlQuantile टर्म द्वारा रैंक किया जाएगा; स्वचालित रूप से परिसमापन के आसन्न जोखिम वाले व्यापारियों को उनके इंटरफेस में उपयुक्त संकेतक दिखाई देंगे। यदि परिसमापन होता है, तो व्यापारी को राशि और परिसमापन मूल्य के साथ एक नोटिस भेजी जाएगी। प्रारंभिक परिसमापन ऑर्डर के दिवालियापन मूल्य पर व्यापारी का पोजीशन बंद कर दिया जाएगा। कोई भी ओपन ऑर्डर रद्द कर दिए जाएंगे। एक बार परिसमापन प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद, व्यापारी तुरंत फिर से प्रवेश कर पाएंगे।
नोट: दिवालियापन मूल्य अनुबंध की बाजार मूल्य सीमा से बाहर हो सकता है। यह अत्यधिक अनुशंसा की जाती है कि व्यापारी ADL संकेतक पर ध्यान दें ताकि डिलीवरेज होने से बचा जा सके।

परिसमापन प्राथमिकता रैंकिंग के लिए गणना

PnL प्रतिशत = अधिकतम (0, अप्राप्त लाभ)/अधिकतम (1, वैलेट बैलेंस)
यदि (वैलेट बैलेंस+अप्राप्त लाभ)≤0, तो मार्जिन अनुपात = 0
अगर (वैलेट बैलेंस+अप्राप्त लाभ)>0, तो मार्जिन अनुपात = रखरखाव मार्जिन/(वैलेट बैलेंस+अप्राप्त लाभ)
लेवरिज PnL = PnL प्रतिशत × मार्जिन अनुपात लेवरिज PnL = PnL प्रतिशत × मार्जिन अनुपात
लेवरिज PnL क्वांटाइल= रैंक (उपयोगकर्ता लेवरिज PnL) / कुल उपयोगकर्ता गणना