क्रिप्टो खरीदें
इससे भुगतान करें
मार्केट
व्युत्पादित (डेरीवेटिव)
NFT
New
डाउनलोड करें
English
USD
सपोर्ट सेंटर
FAQs
Spot & Margin Trading
मार्जिन ट्रेडिंग

पृथक मार्जिन ट्रेडिंग पोजीशन क्या हैं

Binance
2021-09-23 06:17

पृथक मार्जिन ट्रेडिंग पोजीशन क्या हैं?

ऐतिहासिक लेनदेन में किसी पोजीशन की लागत और लाभ/हानि की गणना के लिए पृथक मार्जिन ट्रेडिंग पोजीशन का उपयोग किया जाता है। पृथक मार्जिन पोजीशन आपके खाते में निधि की राशि या आपके उधार लेने के व्यवहार पर निर्भर नहीं करता है। इसके बजाय, यह गणना करने के लिए ट्रेडिंग युग्म (लॉन्ग और शार्ट) के ऐतिहासिक ट्रेड से संचयी डेटा का उपयोग करता है। पोजीशन की जानकारी की पुनर्गणना की जाती है और हर 5 मिनट में अपडेट किया जाता है। उदाहरण के लिए, यदि आप सिस्टम की पुनर्गणना से पहले 5 मिनट के भीतर मार्जिन ट्रेड करते/करती हैं, तो पोजीशन मूल्य और लाभ/हानि की गणना प्रचलित गणनाओं पर आधारित होगी। 

पृथक मार्जिन ट्रेडिंग पोजीशन गणना ट्रेडिंग में क्यों उपयोगी है?

यदि आप लेनदेन की एक श्रृंखला पर एक लॉन्ग/शार्ट मार्जिन पोजीशन खोलते/खोलती हैं, तो आपके ट्रेड की औसत लागत की गणना के लिए पृथक मार्जिन ट्रेडिंग पोजीशन गणना का उपयोग किया जा सकता है। यह आपकी ऐतिहासिक व्यापारिक गतिविधि के आधार पर आपके लाभ और हानि और पोजीशन मूल्य की जांच करने के लिए सुविधाजनक है, ताकि आप बेहतर निवेश निर्णय ले सकें।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

1. पृथक मार्जिन ट्रेडिंग पोजीशन/संचयी मार्जिन पोजीशन की गणना कैसे करें?
ट्रेडिंग पोजीशन से तात्पर्य उस असेट की कुल खरीद (लॉन्ग)/ कुल बिक्री (शार्ट) राशि से है, जिसका आपने प्रारंभिक पोजीशन खोलने के बाद से किसी विशेष पृथक ट्रेडिंग युग्म में कारोबार किया था।  उदाहरण के लिए, यदि आपने लेनदेन की एक श्रृंखला पर मार्जिन पोजीशन खोली है, तो आप अपने कुल पोजीशन आकार को निर्धारित करने में सहायता के लिए संचयी गणना का उपयोग कर सकते/सकती हैं। 
मान लीजिए कि आपने एक BTCUSDT पृथक मार्जिन पोजीशन खोली है और अपनी प्रारंभिक पोजीशन के बाद लेनदेन की एक श्रृंखला बनाई है। प्रत्येक लेनदेन के बाद कुल खरीद मात्रा इस प्रकार है:
तारीखव्यापारमात्रासंचयी कुल खरीद (ट्रेडिंग पोजीशन)दिशा
T+1खरीदें10 BTC10 BTCलॉन्ग
T+2बेचें7 BTC3 (= 10 - 7) BTCलॉन्ग
T+3बेचें2 BTC1 (= 3 - 2) BTCलॉन्ग
T+4बेचें5 BTC-4 (= 1 - 5) BTCशार्ट
T+5खरीदें4 BTC0 (= -4 + 4) BTCअमान्य
T+3 पर, आपके पास 1 BTC का लॉन्ग पोजीशन होगा।
T+4 पर, आपके पास 4 BTC का शार्ट पोजीशन होगा
T+5 पर आपका कोई पोजीशन नहीं होगा।
*T+3 पर मान लें कि आपके पास 1 BTC का लॉन्ग पोजीशन है और आपके मार्जिन खाते में 1 BTC है, तो आपने 1 BTC को अपने स्पॉट खाते में अंतरित कर दिया यानी आपके पृथक मार्जिन खाते में असेट का कोई BTC नहीं है, आपका ट्रेडिंग पोजीशन में अभी भी 1 BTC का लॉन्ग पोजीशन होगा।
2. पृथक मार्जिन पोजीशन में लागत मूल्य की गणना कैसे करें?
लॉन्ग पोजीशन के लिए:
लागत मूल्य = ∑(खरीद मात्रा * खरीद मूल्य) / पोजीशन का आकार (जब से प्रारंभिक पोजीशन खोला गया था) 
इस स्थिति में, प्रारंभिक पोजीशन के बाद किसी भी अतिरिक्त लॉन्ग पोजीशन का हिसाब लगाया जाएगा और नया लागत मूल्य निर्धारित करने के लिए पुनर्गणना की जाएगी। 
शार्ट पोजीशन के लिए:
लागत मूल्य = ∑(बिक्री मात्रा * बिक्री मूल्य)/ पोजीशन का आकार (जब से प्रारंभिक पोजीशन खोला गया था)
इस स्थिति में, प्रारंभिक पोजीशन के बाद किसी भी अतिरिक्त शार्ट पोजीशन का हिसाब लगाया जाएगा और नया लागत मूल्य निर्धारित करने के लिए पुनर्गणना की जाएगी।
एक भारित औसत प्रत्येक व्यापार के साथ खरीदी गई मात्रा और मूल्य को ध्यान में रखता है। दूसरे शब्दों में, यदि आप अतिरिक्त 2 BTC खरीदते/खरीदती हैं, तो आपके द्वारा भुगतान की जाने वाले मूल्य औसत को 1 BTC खरीदने की तुलना में अधिक प्रभावित करेगा। जब कोई पोजीशन शून्य पर वापस आता है या दिशा बदलता है, तो लागत मूल्य की पुनर्गणना की जाएगी। 
बेहतर ढंग से समझने के लिए, कृपया निम्नलिखित उदाहरण देखें:
तारीखव्यापारमात्रानिष्पादन मूल्यट्रेडिंग पोजीशनलागत मूल्य
T+1खरीदें1 BTC38,000 USDTलॉन्ग 1 BTC38,000 USDT
T+2खरीदें2 BTC40,000 USDTलॉन्ग 3 BTC
1*38,000+ 2*40,000)/(1+2)=39,333.333333 USDT
(लागत मूल्य की पुनर्गणना की गई है क्योंकि आप एक ही पोजीशन में अधिक जमा करते/करती है।)
T+3बेचें1 BTC39,000 USDTलॉन्ग 2 BTC 
39,333.3333 USDT
(उसी दिशा में कोई अतिरिक्त ट्रेड नहीं हुआ। इसलिए, पोजीशन और लागत मूल्य अपरिवर्तित रहे।)
T+4बेचें3 BTC45,000 USDTशार्ट 1 BTC
45,000 USDT
(शेष 2 BTC को 45,000 USDT पर बेचा गया और उसी मूल्य पर एक शार्ट 1BTC को आरंभ किया गया।)
3. फ्लोटिंग PnL क्या है?
फ्लोटिंग लाभ और हानि सूचकांक मूल्य और लागत मूल्य के आधार पर गणना किए गए पोजीशन का अप्राप्त लाभ और हानि है। फ्लोटिंग लाभ का सूत्र इस प्रकार है:
लॉन्ग पोजीशन फ्लोटिंग PnL = पोजीशन का आकार × (सूचकांक मूल्य - लागत मूल्य);
शार्ट पोजीशन फ्लोटिंग PnL = पोजीशन का आकार × (लागत मूल्य - सूचकांक मूल्य)।
उदाहरण के लिए:
लॉन्ग ट्रेड:
मान लीजिए कि आप BTCUSDT पृथक युग्म में एक लॉन्ग 3 BTC की पोजीशन रखते/रखती हैं और लागत मूल्य 40,000 है; BTCUSDT का सूचकांक मूल्य 50,000 है। आपका फ्लोटिंग लाभ और हानि = 3*(50,000 - 40,000) = 30,000 USDT होगा।
शार्ट ट्रेड:
यदि आप एक शार्ट 3 BTC की पोजीशन रखते/रखती हैं, जबकि लागत मूल्य और सूचकांक मूल्य अपरिवर्तित रहते हैं, तो आपका फ्लोटिंग PnL = 3*(40,000 - 50,000) = -30,000 USDT होगा
4. टोटल PnL क्या है?
टोटल PnL से तात्पर्य आपके पोजीशन के कुल लाभ और हानि से है।
कुल PnL की गणना = कुल खरीद मात्रा (पिछले सभी ट्रेड में से)*सूचकांक मूल्य - कुल खरीद बाजार मूल्य के रूप में की जाती है
*कुल खरीद मात्रा = खरीद ऑर्डर पोजीशन की मात्रा - बिक्री पोजीशन की मात्रा (ट्रेड असेट)
कुल खरीद मार्केट मूल्य = ट्रेड किए गए खरीद ऑर्डर की राशि - ट्रेड किए गए बिक्री ऑर्डर की संख्या (कोट असेट)
*नोट: मार्जिन ऑर्डर इतिहास में PnL गणना भी कुल PnL गणना का उपयोग करती है, आप मार्जिन ऑर्डर इतिहास में जा सकते हैं और PnL गणना के लिए एक विशिष्ट समय अवधि का चयन कर सकते/सकती हैं।
उदाहरण के लिए, यहां एक BTCUSDT पृथक युग्म का व्यापार विवरण दिया गया है:
तारीखव्यापारमात्रानिष्पादन मूल्य
T+1खरीदें10 BTC30,000 USDT
T+2बेचें7 BTC32,000 USDT
T+3बेचें2 BTC33,000 USDT
मान लें कि BTCUSDT का नवीनतम सूचकांक मूल्य 36,000 है।
कुल खरीद मात्रा = 10 - 7 + 2 = 5 BTC
कुल खरीद बाजार मूल्य = 10*30,000 + 2*33,000 - 7*32,000 = 142,000
कुल लाभ/हानि = 5*36,000 - 142,000 = 38,000 USDT
5. साधित PnL क्या है?
साधित PnL आपके पूरे किए गए ट्रेडों के लाभ या हानि को दर्शाता है। इसकी गणना इस सूत्र द्वारा की जा सकती है:
साधित PnL = कुल PnL - फ्लोटिंग PnL
 आइए उपरोक्त तालिका को देखें। मान लीजिए BTCUSDT का नवीनतम सूचकांक मूल्य 36,000 है। 
T+3 पर आपके पोजीशन का आकार 5 BTC होगा 
प्रत्येक BTC का लागत मूल्य 10*30,000 + 2*33,000) /12 = 30,500 USDT।
आपका साधित लाभ और हानि 38,000 - (5*(36,000 - 30,500)) = 10,500 USDT है।
संबंधित लेख
पृथक मार्जिन ट्रेडिंग का उपयोग कैसे करें